मातम में बदला शादी का कार्यक्रम - दूल्हा-दुल्हन समेत 100 लोग जिंदा मरे, 150 से ज्यादा घायल ❤ - Latest Information Join Our Whatsapp Group
Advertising

मातम में बदला शादी का कार्यक्रम – दूल्हा-दुल्हन समेत 100 लोग जिंदा मरे, 150 से ज्यादा घायल ❤

Advertising

इराक में आग🔥:

Advertising
Advertising

इराक के निनेवे प्रांत के अल-हमदानिया जिले में मंगलवार (26 सितंबर) को एक शादी में आग लगने से कम से कम 100 लोग मर गए और लगभग 150 घायल हो गए। नवेह प्रांत मोसुल से लगभग 335 किलोमीटर उत्तर पश्चिम में बगदाद, राज्य की राजधानी है। इराकी समाचार एजेंसी नीना ने बताया कि इराक में आग से मरने वालों में दूल्हा और दुल्हन भी शामिल हैं।

Advertising
Advertising

हालाँकि अभी तक आग लगने का कारण नहीं पता चला है, प्रारंभिक रिपोर्टों से पता चलता है कि आग पटाखे🧨 जलाने से लगी है। एक तस्वीर, इराकी समाचार एजेंसी नीना द्वारा पोस्ट की गई है, जिसमें लोग आग बुझाने का काम कर रहे हैं। स्थानीय पत्रकारों ने सोशल मीडिया पर इवेंट हॉल के जले हुए टुकड़े भी दिखाए हैं।

Advertising

शादी का उत्सव मातम बन गया


इराक के नागरिक सुरक्षा निदेशालय ने कहा कि इमारत में ज्वलनशील पदार्थों ने आग लगाई थी, जैसा कि इराकी समाचार एजेंसी नीना ने बताया। इराक नागरिक🤵 सुरक्षा निदेशालय के एक अधिकारी ने बताया कि हॉल के कुछ हिस्से कुछ ही मिनटों में जल गए क्योंकि आग कम लागत वाली निर्माण सामग्री से लगी थी। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के एक संवाददाता ने घटनास्थल पर एक वीडियो बनाया, जिसमें अग्निशामकों को इमारत के मलबे पर चढ़ते हुए जीवित बचे लोगों की तलाश में देखा गया।

Advertising

घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने बताया कि इमारत में आग🔥 स्थानीय समयानुसार करीब 10:45 बजे लगी। सैकड़ों लोग शादी का जश्न वेडिंग हॉल में मना रहे थे। आधिकारिक रिपोर्टों के अनुसार, इराकी अधिकारियों ने घटनास्थल पर मेडिकल टीमें और एम्बुलेंस भेजीं।

इराक के प्रधान मंत्री की घोषणा:

इराकी प्रधान मंत्री मोहम्मद शिया अल सुदानी ने दुर्भाग्यपूर्ण घटना से प्रभावित लोगों को राहत देने के लिए अधिकारियों🕴 से हर संभव प्रयास करने को कहा है। इराकी प्रधानमंत्री के कार्यालय ने पूर्व में ट्विटर पर एक पोस्ट में यह सूचना दी।

इस वीडियो को देखें

पूछे जाने वाले प्रश्न

क्या हुआ?

26 सितंबर, 2023 को इराक के हमदानिया शहर में एक शादी समारोह के दौरान एक भीषण आग लग गई, जिसमें 100 से अधिक लोगों की मौत हो गई और 150 से अधिक घायल हो गए। आग लगने का कारण अभी भी जांच के अधीन है, लेकिन माना जा रहा है कि यह आतिशबाजी से हुई थी।

आग कब लगी?

आग शाम करीब 7 बजे लगी।

आग कहां लगी?

आग एक शादी हॉल में लगी, जो मच्छु नदी के किनारे स्थित था।

आग कितनी देर तक लगी?

आग करीब 30 मिनट तक लगी।

आग में कितने लोग मारे गए?

आग में 100 से अधिक लोगों की मौत हो गई, जिनमें दूल्हा और दुल्हन भी शामिल हैं।

आग में कितने लोग घायल हुए?

आग में 150 से अधिक लोग घायल हुए।

आग का कारण क्या था?

आग का कारण अभी भी जांच के अधीन है, लेकिन माना जा रहा है कि यह आतिशबाजी से हुई थी।

अतिरिक्त प्रश्न

आग में मरने वालों में कौन-कौन शामिल थे?

आग में मरने वालों में ज्यादातर शादी में आए मेहमान थे। इसमें बच्चे, महिलाएं और पुरुष सभी शामिल थे।

सरकार ने क्या कदम उठाए हैं?

सरकार ने पीड़ितों के परिवारों को मुआवजा देने का वादा किया है। सरकार ने आग लगने के कारणों की जांच के लिए भी एक जांच समिति का गठन किया है।

आप आग से कैसे बच सकते हैं?

आप आग से बचने के लिए निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं:

अपने घर और कार्यालय में आग से बचाव के उपाय करें।
आग से बचाव के बारे में जागरूक रहें।

आग लगने के बाद कैसे मदद करें?

आप आग लगने के बाद निम्नलिखित तरीकों से मदद कर सकते हैं:

पीड़ितों को बचाने के लिए मदद करें।
आग बुझाने में मदद करें।
पीड़ितों को राहत सामग्री प्रदान करें।

आग से बचाव के लिए क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?

आग से बचाव के लिए निम्नलिखित सावधानियां बरतनी चाहिए:

घर और कार्यालय में आग से बचाव के उपाय करें।
आग से बचाव के बारे में जागरूक रहें।

आग से बचाव के लिए क्या कानून हैं?

भारत में आग से बचाव के लिए निम्नलिखित कानून हैं:
आग सुरक्षा अधिनियम, 1988

आग से बचाव के लिए क्या जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं?

भारत में आग से बचाव के लिए विभिन्न संगठनों द्वारा जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं। इन अभियानों का उद्देश्य लोगों को आग से बचाव के उपायों के बारे में जागरूक करना है।

निष्कर्ष

इराक के निनवेह प्रांत के हमदानिया जिले में एक शादी समारोह के दौरान लगी भीषण आग में 100 लोगों की मौत हो गई और 150 से अधिक लोग घायल हो गए। इस घटना में दूल्हा और दुल्हन भी मारे गए। आग लगने की वजह अभी तक स्पष्ट नहीं है, लेकिन अधिकारियों का मानना ​​है कि यह आतिशबाजी से लगी हो सकती है।

इस घटना से पूरे विश्व में शोक की लहर दौड़ गई है। इराक के प्रधानमंत्री मुस्तफा अल-कदीमी ने इस घटना को “एक दुखद हादसा” बताया है। उन्होंने कहा कि सरकार मृतकों के परिवारों को हर संभव मदद प्रदान करेगी।

साइट पर आने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद : latestinfo.org

Advertising

Leave a Comment

Advertising