Kadha Recipe | सर्दी-खांसी में फायदेमंद है ये देसी काढ़ा |घर पर काढ़ा कैसे बनाएं: आसान रेसिपी और फायदे Join Our Whatsapp Group

Kadha Recipe | सर्दी-खांसी में फायदेमंद है ये देसी काढ़ा |घर पर काढ़ा कैसे बनाएं: आसान रेसिपी और फायदे

Advertising

Kaddha की आसान रेसिपी और लाभ: सर्दियों में ठंडी हवाएं स्वास्थ्य को कई तरह से नुकसान पहुंचाती हैं। नाक बहना या सर्दी की वजह से बार-बार खांसना, दोनों आपकी सेहत को खराब करते हैं। Kadha Recipe

यह भी सर्दी-जुकाम, बुखार और सिर दर्द को जन्म दे सकता है। इसलिए काढ़ा इन परेशानियों को दूर करता है। Kaadha Recipe एक से दो दिन तक बनाकर पिया जाए तो खांसी और सर्दी नहीं आती। काढ़े की दादी-नानी की रेसिपी भी यहां दी जाती है।

Also read Online Paisa Kamane Wala App 2024 | पैसे कमाने वाला ऐप डाउनलोड करें 

Advertising

इस काढ़े को पीने पर तुरंत सेहत और तबीयत में सुधार होता है। यह काढ़ा घर पर बनाने का तरीका जानें।

Advertising
Kadha Recipe

जुकाम और खांसी के लिए काढ़ा कैसे बनाएं?

इसके लिए कुछ तुलसी के पत्ते, एक चम्मच काली मिर्च, दो चम्मच अजवाइन और एक चम्मच शहद की जरूरत होगी। पट्टी लेकर एक गिलास पानी डालें।

शहद को पानी में डाल दीजिए। जब काढ़ा उबलकर तैयार हो जाए तो शहद मिलाकर इसे गर्म-गर्म पिएं।

शरीर से कफ कैसे हटाया जाए?

  1. फेफड़ों से जमा कफ को बाहर निकालने के लिए रोजाना भाप लेना अच्छा हो सकता है।

2. फेफड़ों से बलगम निकालने के लिए काली मिर्च का इस्तेमाल करें।

3. फेफड़ों से बलगम निकालने के लिए गरारे करना फायदेमंद हो सकता है।
अदरक लाभदायक है

खांसी-जुकाम के लिए काढ़ा | Kadha Recipe For Cold And Cough 

काढ़ा बनाने के लिए दो कप पानी, एक चम्मच चीनी, एक चम्मच कुटी हुई लाल मिर्च, एक चम्मच कटा अदरक, पांच तुलसी के पत्ते, दो या तीन लौंग की कलियां और पांच तुलसी के पत्ते लेना चाहिए।

पहले एक बर्तन को आंच पर रखें. फिर लौंग, काली मिर्च, अदरक और तुलसी डालकर पकाएं। चीनी, गिलोय और पानी डालें जब मसाले फूटने लगे। 15 से 20 मिनट पकाने के बाद आंच बंद कर दें।

कठोर हो गया है। काढ़ा चाय की तरह इसे चुस्कियों में पी सकते हैं। 2 से 3 दिनों तक इसका काढ़ा पीने से जुकाम और खांसी कम हो जाती है।

स्वास्थ्य के लिए जरूरत से अधिक काढ़ा नहीं पीना चाहिए। ज्यादा काढ़ा पीने से तबीयत खराब हो सकती है क्योंकि यह गर्म होता है।

इसलिए, काढ़े को दवा के रूप में लेने से बचना चाहिए और सिर्फ छोटी-छोटी मात्रा में पीना चाहिए।

अस्वीकृति: यह सामग्री सिर्फ सामान्य ज्ञान देती है, सलाह के साथ। यह विचार किसी भी तरह से वैकल्पिक चिकित्सा के पक्ष में नहीं है।

हमेशा अपने चिकित्सक या चिकित्सक से परामर्श करें। NDTV इस सूचना पर ज़िम्मेदारी नहीं लेता।

faq

काढ़ा बनाने के बारे में आपका क्या विचार है?

तुलसी के पत्ते, अजवाइन, काली मिर्च और एक कप पानी को एक पैन में डालकर पांच मिनट तक पकाएं।

शहद डालकर छानें और पीएं। कढ़ा बनाते समय शहद नहीं डालें। शहद की औषधीय गुणों को गर्मी कम करती है।

सर्दी के लिए कौन सा काढ़ा बनाया जाना चाहिए?

सर्दी जुकाम में तुलसी का काढ़ा पीना सुरक्षित है। ये आपको जल्दी आराम देगा। आपको सिर्फ चीनी, सौंफ, तेजपत्ता, छोटी इलायची, काली मिर्च और दालचीनी लेनी होगी। सबको गरम पानी में उबाल लीजिए।

सर्दी के लिए कौन सा काढ़ा बनाया जाना चाहिए?

सर्दी जुकाम में तुलसी का काढ़ा पीना सुरक्षित है। ये आपको जल्दी आराम देगा। आपको सिर्फ चीनी, सौंफ, तेजपत्ता, छोटी इलायची, काली मिर्च और दालचीनी लेनी होगी। सबको गरम पानी में उबाल लीजिए।

बुखार और खांसी के लिए काढ़ा कैसे बनाएं?

अगर आप अदरक का काढ़ा बनाना चाहते हैं, तो सबसे पहले एक पैन लें। फिर आधा चम्मच सौंठ पाउडर और दो गिलास पानी इसमें डालें। आधा छोटा चम्मच काली मिर्च और चुटकीभर सेंधा नमक भी इसमें डालें। अब हल्की आंच पर आधा तक उबाल लें।

Advertising

Leave a Comment

Advertising